Up में किसानों को मिलेगा : Nandini Krishak Samriddhi Yojana का लाभ : Nandini Krishak Samriddhi Bima Yojana 2023

Nandini Krishak Samriddhi Yojana in Hindi | Utter Pradesh Nandini Krishak Samriddhi Yojana kya hai | Nandini Krishak Samriddhi Yojana Stetus | Nandini Krishak Samriddhi Bima Yojana | नन्दिनी कृषक समृद्धि योजना | नन्दिनी कृषक समृद्धि योजना हिंदी | Utter Pradesh Nandini Krishak Bima Yojana kya hai | Up Govt Launched Nandini Krishak Samriddhi Bima Yojana 2023 in Hindi | Nandini Krishak Samriddhi Yojana online apply

Nandini Krishak Samriddhi Yojana 2023: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश सरकार ने मवेशियों की नस्ल में सुधार के लिए “नन्दिनी कृषक समृद्धि योजना 2023” को प्रारंभ किया है। और राज्य में दूध उत्पादन को बढ़ाने का लक्ष्य है। इस योजना का उद्देश्य दूध उत्पादन को बढ़ाने और डेयरी किसानों की आय को वृद्धि देने के लिए गायों की नस्ल में सुधार करना है। आज हम इस लेख के माध्यम से ‘Nandini Krishak Samriddhi Bima Yojana‘ के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे, इस योजना का उद्देश्य, पात्रता, बजट जैसे अनेक महत्वपूर्ण जानकारियाँ इस लेख में उपलब्ध हैं।

Nandini Krishak Samriddhi Yojana 2023 kya hai

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित गई एक उच्च स्तरीय योजना है, जिसका मुख्य उद्देश्य पशुपालकों को आर्थिक दृढ़ता प्रदान करना है। इस योजना के अंतर्गत, सरकार पशुपालकों को 25 उन्नतशील स्वदेशी गायों का प्रदान करती है, जिनके लिए भी विमा प्राप्त किया जाता है।

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए, आवेदक को अपने जिले के पशुपालन विभाग से संपर्क करना होगा। वहां उन्हें आवेदन पत्र भरना होगा और आवश्यक दस्तावेज जमा करने होंगे। आवेदन पत्र भरने के बाद, आवेदक की पात्रता की जांच की जाएगी। अगर आवेदक पात्र माना जाता है, तो उन्हें 25 उन्नतशील स्वदेशी गायों का प्रदान किया जाएगा।

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना एक महत्वपूर्ण कदम है जो उत्तर प्रदेश के पशुपालकों को आर्थिक दृढ़ता प्रदान करने और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने में सहायक हो रही है। इस योजना के प्रोत्साहन से पशुपालकों को अधिक दूध बेचने का अवसर प्राप्त होता है, जिससे उत्तर प्रदेश में दुग्ध उत्पादन में वृद्धि होती है।

CM Khet Surksha Yojana 2023

UP Free Smartphone Yojana,25 लाख युवाओं को मिलेगा

Nandini Krishak Bima Yojana 2023 के बारे में जानकारी

योजना का नाम  Nandini Krishak Bima Yojana
शुरू की गई  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा
विभाग  पशुधन एवं दुग्ध विकास
लाभार्थी  राज्य के पशुपालक एवं किसान
उद्देश्यnदेसी नस्ल की गाय को बढ़ावा देना और दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र में बढ़ोतरी करना
राज्यउत्तर प्रदेश  
साल2023  
आवेदन प्रक्रिया  अभी उपलब्ध नहीं
अधिकारिक वेबसाइट  जल्द लॉन्च होगी  

Nandini Krishak Samriddhi Yojana 2023 का मुख्य उद्देश्य

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना 2023 का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश के पशुपालकों को आर्थिक दृढ़ता प्रदान करना है। इस योजना के अंतर्गत, सरकार पशुपालकों को 25 स्वदेशी उन्नतशील नस्ल की गाय प्रदान करती है, जिनके लिए भी विमा प्राप्त किया जाता है।

इस योजना के माध्यम से, उत्तर प्रदेश सरकार पशुपालकों को दूध उत्पादन और बिक्री के माध्यम से आय अर्जित करने में मदद करना चाहती है। यह योजना पशुपालकों को अधिक दूध बेचने के लिए प्रोत्साहित करती है, जिससे उत्तर प्रदेश में दुग्ध उत्पादन में वृद्धि होती है।

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना के अन्य उद्देश्यों में शामिल हैं:

  • देसी नस्ल की गायों को बढ़ावा देना
  • उत्तर प्रदेश में कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करना
  • नंदिनी कृषक समृद्धि योजना उत्तर प्रदेश के पशुपालकों के लिए एक सुनहरा अवसर है।
  • यह योजना उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाने और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है।

Rojgar Sangam Yojana 2023 for 12th Pass

Berojgari Bhatta Yojana UP Online Apply 2023

Nandini Krishak Samriddhi Yojana 2023 Benefit

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना 2023 के लाभार्थियों को निम्नलिखित लाभ मिलते हैं:

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना उत्तर प्रदेश के पशुपालकों के लिए एक सुनहरा अवसर है। यह योजना उन्हें आर्थिक दृढ़ता प्रदान करने और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद कर सकती है। प्रथम चरण में इकाई निर्माण हेतु परियोजना लागत का 25 प्रतिशत अनुदान के रूप में प्रदान किया जायेगा। दूसरे चरण में 25 दुधारू गायों की खरीद पर 12.5 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा, उनका 3-वर्षीय बीमा और परिवहन लागत के लिए। तीसरे चरण में परियोजना लागत का शेष 12.5 प्रतिशत अनुदान के रूप में प्रदान किया जाएगा।

25 स्वदेशी उन्नतशील नस्ल की गाय

योजना के तहत प्रदान की जाने वाली गायें देसी नस्ल की होती हैं, जैसे कि गिर, साहीवाल, और राठी। इन गायों का औसत दूध उत्पादन प्रति दिन 10-15 लीटर होता है। यह पशुपालकों को दूध उत्पादन और बिक्री से अच्छी आय अर्जित करने में मदद कर सकता है।

Nandini Krishak Bima Yojana: (गायों का बीमा)

सरकार इन गायों का 3-वर्षीय बीमा भी कराती है, जिसमें मृत्यु, चोट, और बीमारी के मामले शामिल हैं। यह पशुपालकों को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है और उन्हें इन गायों को बनाए रखने के लिए प्रोत्साहित करता है।

दूध उत्पादन और बिक्री से आय अर्जित करने का अवसर

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना के लाभार्थी दूध उत्पादन और बिक्री से आय अर्जित कर सकते हैं। यह उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाने और अपने परिवारों का समर्थन करने में मदद कर सकता है।

देसी नस्ल की गायों को बढ़ावा देना

योजना देसी नस्ल की गायों को बढ़ावा देने में मदद करती है। ये गायें अधिक टिकाऊ और रोग प्रतिरोधी होती हैं। वे उत्तर प्रदेश में कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में भी मदद कर सकती हैं।

उत्तर प्रदेश में कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में मदद

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना उत्तर प्रदेश में कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में मदद करती है। यह पशुपालकों को दूध उत्पादन और बिक्री से आय अर्जित करने में मदद करती है। यह उन्हें अधिक निवेश करने और अपने व्यवसायों का विस्तार करने में भी मदद कर सकती है।

किसानों को सोलर पम्प कैसे मिलेंगे। Pm kusum yojana 2023

PM Kisan beneficiary stetus check 2023

Nandini Krishak Samriddhi Yojana 2023 Budget

योगी सरकार ने योजना के तहत 25 दुधारू गायों की एक इकाई स्थापित करने के लिए 62.5 लाख रुपये की लागत का अनुमान लगाया है। इसलिए योगी सरकार कुल खर्च पर 50 फीसदी सब्सिडी देगी जो लाभार्थियों को अधिकतम 31.25 लाख रुपये की राशि देती है।

यह एक बहुत ही उदार सब्सिडी योजना है जो उत्तर प्रदेश के पशुपालकों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करेगी।

Nandini Krishak Samriddhi Yojana Subsidy

योजना के तहत दी जाने वाली सब्सिडी का विवरण इस प्रकार है:

  1. योजना के लाभार्थियों को गाय की खरीद के लिए 12.5 प्रतिशत रुपए की सब्सिडी दी जाएगी।
  2. लाभार्थियों को चारा और अन्य संसाधनों के लिए 30 प्रतिशत रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।
  3. लाभार्थियों को डेयरी फार्म के निर्माण और विकास के लिए 20 प्रतिशत रुपये की सब्सिडी दी जाएगी।

Nandini Krishak Samriddhi Yojana Eligibility criteria

योजना का लाभ पाने के लिए लाभार्थी के पास पशुपालन में कम से कम 3 साल का अनुभव होना चाहिए। साथ ही, मवेशियों को ईयर टैगिंग कराना भी अनिवार्य है। इसके साथ ही, इकाई की स्थापना के लिए लाभार्थी के पास कम से कम 0.5 एकड़ भूमि होनी चाहिए।

इसके अलावा, लाभार्थी के पास हरे चारे के लिए लगभग 1.5 एकड़ जमीन भी होनी चाहिए। यह जमीन उसकी अपनी (पैतृक) हो सकती है या 7 साल के लिए लीज पर ली गई हो सकती है। पूर्व में संचालित कामधेनु, मिनी कामधेनु और माइक्रो कामधेनु योजना के लाभार्थी इस योजना का लाभ नहीं उठा सकेंगे।

Nandini Krishak Samriddhi Yojana Document

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज इस प्रकार हैं:

  1. आवेदक का पहचान पत्र (आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, आदि)
  2. आवेदक का निवास प्रमाण पत्र (राशन कार्ड, बिजली बिल, आदि)
  3. आवेदक की आयु का प्रमाण पत्र
  4. आवेदक की आय का प्रमाण पत्र
  5. जमीन के स्वामित्व का प्रमाण पत्र (भूमि अभिलेख, पट्टा, आदि)

Nandini Krishak Samriddhi Yojana Online Apply kaise kare

नंदिनी कृषक समिति योजना का ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इसके ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा। आपको बता दें कि इस योजना का अभी तक ऑफिशल वेबसाइट लॉन्च नहीं हुई है, जैसे ही योजना का ऑफिशियल वेबसाइट उत्तर प्रदेश के योगी सरकार द्वारा लॉन्च किया जाता है तो हम आपको सूचित कर देंगे उसके लिए आप upsarkariyojana के साथ बने रहें

Nandini Krishak Samriddhi Bima Yojana Official Website

आपको बता दें कि इस योजना का अभी तक ऑफिशल वेबसाइट लॉन्च नहीं हुई है, जैसे ही योजना का ऑफिशियल वेबसाइट उत्तर प्रदेश के योगी सरकार द्वारा लॉन्च किया जाता है तो हम आपको सूचित कर देंगे उसके लिए आप upsarkariyojana के साथ बने रहें

NKSY Conclusion (नन्दिनी कृषक समृद्धि बिमा योजना का निष्कर्ष)

Nandini Krishak Samriddhi Yojana Utter उत्तर प्रदेश सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है जो पशुपालकों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए डिज़ाइन की गई है। योजना के तहत, उत्तर प्रदेश सरकार पशुपालकों को 25 स्वदेशी उन्नतशील नस्ल की गाय प्रदान करती है। इन गायों का सरकार द्वारा बीमा भी कराया जायेगा गा, जो 3 साल के लिए या फिर उससे ज्यादा भी हो सकता है

योजना पशुपालकों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने में मदद करेगी।योजना दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने में मदद करेगी।योजना देसी नस्ल की गायों को बढ़ावा देने में मदद करेगी।योजना उत्तर प्रदेश में कृषि और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में मदद करेगी। कुल मिलाकर, नंदिनी कृषक समृद्धि योजना एक अच्छी पहल है जो उत्तर प्रदेश के पशुपालकों और राज्य की अर्थव्यवस्था के लिए लाभदायक हो सकती है।

नंदिनी कृषक योजना FAQ

नंदिनी कृषक बीमा योजना क्या है?

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना के माध्यम से राज्य के कृषक को एवं पशुपालकों को सरकार द्वारा 25 स्वदेशी उन्नति शील नस्ल की गाय उपलब्ध कराई जाएगी।

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना को किसने शुरू किया?

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा शुरू किया गया है।

नंदिनी कृषक बीमा योजना को किस राज्य में शुरू किया गया है?

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना को उत्तर प्रदेश राज्य में शुरू किया गया है।

Nandini Krishak Samriddhi Bima Yojana 2023 का मुख्य उद्देश्य

नंदिनी कृषक समृद्धि योजना 2023 का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश के पशुपालकों को आर्थिक दृढ़ता प्रदान करना है। इस योजना के अंतर्गत, सरकार पशुपालकों को 25 स्वदेशी उन्नतशील नस्ल की गाय प्रदान करती है, जिनके लिए भी विमा प्राप्त किया जाता है।

Nandini Krishak Samriddhi Bima Yojana 2023 के लिए कितना Budget पारित किया गया है?

योगी सरकार ने योजना के तहत 25 दुधारू गायों की एक इकाई स्थापित करने के लिए 62.5 लाख रुपये की लागत का अनुमान लगाया है। इसलिए योगी सरकार कुल खर्च पर 50 फीसदी सब्सिडी देगी जो लाभार्थियों को अधिकतम 31.25 लाख रुपये की राशि देती है।

Leave a Comment